केंद्र सरकार इस साल अपने कर्मचारियों को उनके महंगाई भत्ते (DA) में 3% की बढ़ोतरी करके होली का तोहफा दे सकती है.

16 मार्च को होने वाली कैबिनेट की बैठक में कर्मचारियों का डीए (DA) बढ़ाने पर फैसला लिया जा सकता है

अगर कोई समझौता होता है तो सरकारी कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ता (DEARNESS ALLOWANCE) को मौजूदा 31 फीसदी से बढ़ाकर 34 फीसदी किया जा सकता है

नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार के इस फैसले से 50 लाख से ज्यादा सरकारी कर्मचारियों और 65 लाख से ज्यादा पेंशनभोगियों को फायदा होगा.

सातवें वेतन आयोग (7th Pay Commission) की सिफारिशों के अनुसार सरकार मूल वेतन पर डीए (DA) की गणना करती है.

10 मार्च को 5 राज्यों के चुनाव परिणाम आने के बाद आदर्श आचार संहिता भी हट जाएगी. इसके बाद सरकार डीए पर फैसला ले सकती है.

3% की वृद्धि से कर्मचारियों का वेतन अधिकतम 20,000 रुपये और न्यूनतम 6480 रुपये तक बढ़ जाएगा.

AICPI (औद्योगिक श्रमिकों के लिए अखिल भारतीय उपभोक्ता मूल्य सूचकांक) का डेटा कहता है कि दिसंबर 2021 तक DA 34.04% तक पहुंच गया है.

यदि किसी कर्मचारी का मूल वेतन 18,000 रुपये प्रति माह है तो 34% पर नया डीए 6120 रुपये प्रति माह होगा.

फिलहाल डीए 31 फीसदी होने पर 5580 रुपये मिल रहा है.